-->

Thursday, May 7, 2020

बाड़मेर जिला सामान्य ज्ञान

          बाड़मेर जिला सामान्य ज्ञान

                        बाड़मेर जिला

11वी शताब्दी में परमार शासक बहाड़ राव ने बाड़मेर को बसाया था

बाड़मेर में तेल और गैस की उपलब्धता के कारण इसे तेल व प्राकृतिक गैस सम्पदा का धनी कहते हैं
प्राकृतिक तेल व गेस के भण्डार - गुढ़ा मलानी
तेल रिफाइनरी - बाड़मेर के पंचभदरा के साजियावली गांव में सितम्बर 2013 में सोनिया गांधी ने रिफाइनरी व पेट्रो केमिकल कॉम्प्लेक्स का शिलान्यास किया था
यहां तेल क्षेत्र का नाम सरस्वती  है तेल कुओ में मुख्यत मंगला -1 , भाग्यम  ,ऐश्वर्या , रागेश्चरी है
राज्य का प्रथम लिग्नाइट कोयला आधारित विद्युत  सयंत्र गीरल बाड़मेर में है
निजी  क्षेत्र पर आधारित राज्य का प्रथम बिजलीघर - जालीपा कपूरड़ी  बाड़मेर
किराडू -  (किरात कूप)  किराडू को राजस्थान का खजुराहो कहते है यहां पर स्थित सोमेश्वर मंदिर नागर प्रतिहार शैली का अंतिम मंदिर समूह है इस मंदिर के सामने महिषासुर मरदनी की त्रिपाद मूर्ति स्थित है
छप्पन की पहाड़ी - बाड़मेर में स्थित पहाड़ियां छप्पन  पहाड़ियां कहलाती है इसकी उंची पहाड़ी हल्देश्वर है जो सिवाना में स्थित है
लूणी नदी - यह जिले की सबसे लंबी नदी है जिले इसकी  लंम्बाई 480 km  है लूणी नदी का जल बालोतरा में खारा हो जाता है
इंदिरा गांधी नहर का जीरो प्वाइंट - गडरा रोड बाड़मेर, यहां बाबा रामदेव लिफ्ट परियोजना है
पंचभदरा - यह खारे पानी झील है इस झील में खारवेल जाती के लोग  मोरली झाड़ी से नमक के स्फिटक बनाते है इस झील के नमक में 98% सोडियम क्लोराइड होता है


                       महत्वपूर्ण तथ्य
राजस्थान का मेवानगर - नाकोड़ा, जैन धर्म का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है यह मंदिर  भगवान पार्श्वनाथ को समर्पित है
वीरातरा माता का मंदिर -  चोहटन बाड़मेर यह भोपो की कुल  देवी है
ब्रम्हा जी का मंदिर - आसोतरा बाड़मेर
रामदेव जी का जन्म स्थान - उडू काश्मीर बाड़मेर
 प्रसिद्ध खड़ताल वादक - सद्दीक खां बाड़मेर से है
 बाड़मेर की मलीर प्रिंट और अजरक प्रिंट विश्व प्रसिद्ध है
सुइयां मेला - चोहटन यह मेला 4 साल में एक बार लगता है इसलिए इसे अर्ध कुम्भ भी कहते है
मारवाड़ का लघु माउंट आबू - पिपलूद
राज्य का सर्वाधिक पशु सम्पदा वाला जिला - बाड़मेर
थार महोत्सव - बाड़मेर
आलम जी मंदिर - धोरी मन्ना बाड़मेर यह स्थान अश्वों के प्रजनन के लिए भी प्रसिद्ध है
मलीनाथ का पशु मेला - तिलवाड़ा बाड़मेर
रण छोड़राय  मेला - (खेड ) बाड़मेर  रेबारी जाती का  प्रमुख पूजा स्थल
बाड़मेर में पेयजल परियोजना - सुजलम
सरगला कुआ - बाड़मेर
गरीबनाथ जी का शिव मंदिर बाड़मेर
नागणेची माता का मंदिर - बाड़मेर इस मंदिर की मूर्ति लकड़ी की बनी हुई है
मालानी - यहां के घोड़े प्रसिद्ध है
बाटाडू का कुआ - इसे रेगिस्थान का जलमहल कहते है यह बायतु बाड़मेर में स्थित है
सिवाना दुर्ग - बाड़मेर 

0 comments:

Post a Comment

thanks


rajasthan gk

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog